ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्कृत समाचार तिथि / पंचाग कथा / कहानियां शास्त्रों से धार्मिक पर्यटन स्थल विचार / लेख
आग में घी डालने की बजाय आत्ममंथन करें सोनिया गांधीः विष्णुदत्त शर्मा
February 26, 2020 • Admin

भोपाल। पूरा देश जानता है कि सीएए के खिलाफ लोगों को गुमराह करके भड़काया किसने है। पूरा देश यह बात जानता है कि किस पार्टी के नेता सीएए विरोधी हिंसा में शामिल लोगों के घर जाकर उनकी हौसला अफजाई का काम करते रहे हैं। अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अपने बयान से अपनी ही भड़काई आग में घी डालने का काम कर रही हैं,  लेकिन इससे पहले उन्हें आत्ममंथन करना चाहिए। उन्हें देश को यह बताना चाहिए कि दिल्ली में जो पेट्रोल बांटकर आग लगवाई गई है, वह किसके इशारे पर किया गया है। उन्हें यह बताना चाहिए कि 1984 के दंगों के दौरान कांग्रेस के लोगों ने उन हजारों सिखों के साथ क्या किया था, जिनके परिवार आज भी न्याय के लिये भटक रहे हैं। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार को मीडिया से चर्चा करते हुए कही।  

संकट के समय राजनीति कांग्रेस का पुराना शौक
 प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि देश में जब-जब भी संकट आया है, कांग्रेस को उस पर राजनीति ही सूझती रही है। चाहे उड़ी में सेना के शिविर पर हमला हो, पुलवामा का हमला हो या सीएए विरोधी हिंसा हो, कांग्रेस इन सभी पर राजनीति ही करती रही है। श्री शर्मा ने कहा कि एक ऐसी पार्टी जिसने 50-60 सालों तक देश पर शासन किया है, उसके नेताओं को यह विचार करना चाहिए कि क्या उनका ये रवैया ठीक है? उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जबकि दिल्ली में शांति और सद्भाव के  लिये काम करने की जरूरत है, राजनीतिक लाभ के लिये की गई कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की टिप्पणी कहीं से भी उचित नहीं कही जा सकती।
लोगों के दिलों में बैठी है भाजपा, उसे कैसे मिटायेंगे
 श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के नेता छोटे मन से काम कर रहे हैं। उद्घाटन, लोकार्पण या शिलान्यास के पत्थरों पर भाजपा के सांसदों का नाम नहीं लिखने से क्या होगा, हम तो जनता के मन में बैठे हुए हैं। कांग्रेस कितना भी खुरच ले,  कुछ नहीं कर सकती है। भारतीय जनता पार्टी तो प्रदेश की जनता के दिलों में बैठी हुई, कांग्रेस उसे कैसे मिटायेगी? श्री शर्मा ने चेतावनी दी कि सही तरीके से प्रोटोकॉल का पालन कराना प्रशासन की जिम्मेदारी होती है और कलेक्टर से लेकर प्रशासन के तमाम अधिकारी/कर्मचारी कांग्रेस कार्यकर्ताओं की तरह व्यवहार न करें, राजनीतिक दुराग्रह से काम न करें।
बंटाढार से भी आगे निकल गई कमलनाथ सरकार
 श्री शर्मा ने कहा कि एक समय प्रदेश में दिग्विजयसिंह की सरकार ने बंटाढार किया था। लेकिन कमलनाथ की सरकार उससे भी ज्यादा आगे निकल गई और उससे ज्यादा बंटाढार कमलनाथ के नेतृत्व में हो रहा है। उन्होंने कहा कि बैतूल में बेटी के साथ बलात्कार किया गया और उसे खुद को आग लगाने पर मजबूर होना पड़ा। मुख्यमंत्री के गृह जिले छिंदवाडा में एक बेटी के साथ बलात्कार होता है और उसकी लाश जंगल में मिलती है। सागर में अनुसूचित जाति के व्यक्ति को जिंदा जला दिया जाता है। उन्होंने कहा कि घनानंद की सरकार की तरह काम कर रही इस सरकार के शासन में प्रदेश में कोई कानून नहीं बचा है। प्रदेश का दुर्भाग्य है कि यहां कानून व्यवस्था गर्त में चली गई है। जिस गति से आपराधिक घटनाएं हो रही है उससे साबित होता है कि मध्यप्रदेश में अंधेर नगरी चौपट राजा वाली स्थिति है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इस दुरावस्था को स्वीकार नहीं करेगी और हम सड़कों पर उतरकर सरकार को इसका जवाब देंगे।
जनता की जेब पर डाका कैसे डालें, इसी की फिक्र में कांग्रेस नेता
 प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जनता से झूठ बोलने वाली, उसे भ्रमित करने वाली, छल और कपट करने वाली कमलनाथ सरकार प्रदेश में सिर्फ शराब बांटने का काम कर रही है। कांग्रेस के नेता तो इसी चिंता से ग्रसित रहते हंम कि शराब ऑनलाइन कैसे घरों तक पहुंचे और कैसे गरीब जनता की जेब पर डाका डाला जाए। रेत खनन की नीति बनाकर कैसे पैसे कमाए जाएं और अपने लोगों को कैसे उपकृत किया जाए, इसी में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चल रहे तबादला उद्योग में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ है और कमलनाथ सरकार भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई है। श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता इन सारी बातों को समझ रही है और आने वाले समय में कांग्रेस को भी इसे अच्छी तरह से समझाएगी।