ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्कृत समाचार तिथि / पंचाग कथा / कहानियां शास्त्रों से धार्मिक पर्यटन स्थल विचार / लेख
हरदोई:जल जीवन मिशन का उद्वेश्य ग्रामीण पाईप पेयजल योजना से आच्छादित करना -जिलाधिकारी
February 26, 2020 • Admin

हरदोई । कलेक्ट्रेट सभागार में आहूत भारत सरकार द्वारा क्रियान्वित जल जीवन मिशन बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बताया कि जल जीवन मिशन का प्रमुख उद्वेश्य पाईप पेयजल योजनाओं से अनाच्छादित समस्त ग्रामीण बस्तियों को मार्च 2024 तक पाईप पेयजल योजना से आच्छादित करना है, और योजना के माध्यम से 55 लीटर प्रति व्यक्ति प्रतिदिन के सेवा स्तर मानक के अनुसार विरचित कर क्रियान्वित की जायेगी तथा पेयजल योजनाओं से आच्छादित प्रत्येक घर में क्रियाशील नल संयोजन के माध्यम से स्वच्छ व शुद्व जलापूर्ति सुनिश्चित करना है। उन्होने कहा कि जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन हेतु ग्राम स्तर पर ग्राम स्तरीय एवं स्वच्छता समिति द्वारा ग्राम योजना तैयार करना एवं जनपद स्तर पर कार्य योजना तैयार करते हुए प्रत्येक वर्ष की वार्षिक कार्य योजना बनाकर कार्यवाही की जायेगी तथा मिशन के अन्तर्गत हर घर जल के क्रियान्वयन हेतु योजना की कुल लागत का 10 प्रतिशत अंशदान ग्राम समुदाय द्वारा एवं 90 प्रतिशत अंशदान शासन द्वारा प्रदान किया जायेगा और यह 10 प्रतिशत अंशदान नगद, सामग्री, श्रम इत्यादि के रूप में दिया जा सकता है तथा ग्राम सभा में निवास करने वाले कुल परिवारों में से कम से कम 80 प्रतिशत परिवार अंशदान दिये जाने हेतु सहमत होनी चाहिए एवं योजना के संचालन व अनुश्रवण हेतु ग्राम पंचायत द्वारा जो भी यूजर चार्ज निर्धारित किया जायेगा, उसके भुगतान हेतु भी ग्रामवासियों व ग्राम पंचायत की सहमति होनी चाहिए और जिन ग्रामों में अनुसूचित,जनजाति की आबादी 50 प्रतिशत से अधिक है, उन ग्रामों में योजना की कुल लागत का 05 प्रतिशत अंशदान समुदाय द्वारा नगद, सामग्री, श्रम इत्यादि के रूप में किया जायेगा तथा ग्राम सभा में निवास करने वाले कुल परिवारों मेे से कम से कम 80 प्रतिशत परिवार अंशदान दिये जाने एवं योजना के संचालन एवं अनुश्रवण हेतु भी ग्राम पंचायत द्वारा जो भी यूजर चार्ज निर्धारित किया जायेगा उसके भुगतान हेतु भी ग्रामवासियों एवं ग्राम पंचायत की सहमति होनी अवश्यक है। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जिला परियोजना प्रबन्धन इकाईध्ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के सहयोग से ग्राम कार्य योजना तैयार करने एवं पाईप पेयजल योजना के क्रियान्वयन का दायित्व ग्राम पंचायत का होगा, जिसके लिए ग्राम सभा की बैठक में उपस्थित सदस्यों में से कम से कम 80 प्रतिशत सदस्यों की सहमति के आधार पर ग्राम कार्य योजना का अनुमोदन ग्राम सभा द्वारा किया जायेगा। जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देश दिये कि जनपद में जो पाईप पेयजल संचालित है वहां ग्राम पंचायतों की बैठकें कराकर सदस्यों के सहमति के आधार पर पेयजल के सम्बन्ध में यूजर चार्ज निर्धारित करायें और परियोजनाओं के कुशल संचालन के लिए पाईप पेयजल की सुविधा लेने वाले लाभार्थियों से प्रत्येक माह निर्धारित चार्ज भी लिया जाये तथा निर्माणाधीन पाईप पेयजल परियाजनाओं को समय से पूर्ण कराकर संबंधित ग्राम पंचायतों के लाभार्थियों को पाईप पेयजल के माध्यम से जलापूर्ति करायें। है उन्हें बैठक में अधिशासी अभियंता जल निगम अरविन्द कुमार त्रिपाठी ने बताया कि जल जीवन मिशन के अन्तर्गत केन्द्रांश 50 प्रतिशत एवं राज्यांश 50 प्रतिशत की व्यवस्था की गयी हैं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता वत्स, पीडी रामेन्द्र श्रीवास सहित अन्य संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।