ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्कृत समाचार तिथि / पंचाग कथा / कहानियां शास्त्रों से धार्मिक पर्यटन स्थल विचार / लेख
लखनऊ-लाॅक डाउन के बाद ठहर गया शहर, सुनसान नज़र आई सड़के, घरो मे दुबके रहे लोग
March 25, 2020 • Admin

लखनऊ। चीन से शुरू हुए नोवेल कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया मे छाया हुआ है इन्सानी जानो के लिए घातक कोरोना वायरस ने हमारे देश भारत मे भी पैर पसारे और पाॅच सौ से भी ज़्यादा लोग इस वायरस की चपेट मे आए पूरे देश मे अब तक कोरोना वायरस से हुई मौतो का आकड़ा आठ तक पहुॅच गया । विश्व की दूसर बड़ी आबादी वाले देश भारत मे कोरोना वायरस अपना विकराल रूप धारण न करे इस लिए सरकार ने इस वायरस से बचाव के लिए मज़बूत कदम उठाते हुए सामाजिक दूरी लोगो से बनोन के लिए अपील करते हुए 22 मार्च को पूरे देश मे प्रधानमंत्री ने जनता कफर््यू का एलान किया तो देश की जनता ने जनता कफर््यू को सौ फीसद कामयाब बना कर कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एक जुटता का संदेश दे दिया । क्यूकि इस घातक बीमारी से लड़ने के लिए अभी तक कोई दवा नही बनी है इस लिए इससे बचाव का एक मात्र विकल्प सामाजिक दूरी ही बताया गया है। जनता कफर््यू की कामयाबी के बाद प्रधानमंत्री एक बार फिर देश की जनता से रूबरू हुए और उन्होने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पूरे देश को 21 दिनो के लिए लाॅक डाउन करने का एलान कर दिया। 24 मार्च की रात से पूरे देश की जनता ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री की अपील को सर आॅखो पर लेते हुए अपने आपको अपने घरो के अन्दर कैद कर लिया । बुद्धवार की सुबह से पूरे देश की सड़को पर सन्नाटा पसर गया और लोगो ने एक दूसरे से मिलना जुलना कुछ दिनो के लिए छोड़ दिया। बुद्धवार की सुबह से उत्तर प्रदश्ेा की राजधानी पूरी तरह से ठहर गई शहर के बाज़ार पूरी तरह से बन्द हो गए लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा आवश्यक वस्तुओ की बिक्री सुचारू रूप से जारी रखने की बात कही गई थी इस लिए आवश्यक वस्तुए जैसे दवा दूध सब्ज़ी राशन आदि की दुकाने खुली रही लेकिन पुलिस ने इन दुकानो पर भीड़ नही लगने दी । पूरे देश मे मे बुद्धवार की सुबह से सन्नाटा पसर गया । लाॅक डाउन के दौरान कानून व्यवस्था को पटरी पर रखने के लिए पूरे शहर मे पुलिस के जवान मुस्तैदी से डटे हुए देखे गए । शहर के हर चैराहे पर बैरिकेटिंग कर दी गई थी जहंा पुलिस कर्मी बैठे हुए थे जो सड़क से गुज़रने वाले लोगो से घर से बाहर निकलने का कारण पूछ रहे थे घर से बाहर निकलने का आक्समिक कारण न बता पाने वालो के खिलाफ पूरे उत्तर प्रदेश मे लाॅक डाउन का उलंघन करने के करीब 17 सौ से ज़्यादा लोगो के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए और साढ़े पाॅच हज़ार से ज़्यादा गाड़ियो के चालान भी काटे गए ये कार्यवाही उन लोगो के खिलाफ की गई जिन्होने सामाजिक दूरी के लिए किए गए लाॅक डाउन का उलंघन किया था।