ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्कृत समाचार तिथि / पंचाग कथा / कहानियां शास्त्रों से धार्मिक पर्यटन स्थल विचार / लेख
नवीन ने किया ओडिशा को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग
February 29, 2020 • Admin

(जी.एन.एस) ता. 28
भुवनेश्वर
ओडिशा लगातार प्राकृतिक आपदा का सामना कर रहा है। ऐसे में ओडिशा को विशेष राज्य (स्पेशल फोकस राज्य) का दर्जा देने की मांग मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने की है। लोकसेवा भवन में केन्द्र गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में आयोजित पूर्वांचल परिषद बैठक में मुख्यमंत्री ने यह मांग की। मुख्यमंत्री ने इसके लिए विशेष आर्थिक पैकेज के लिए भी मांग की है। इसके लिए बैंक, टेली संपर्क, रेलवे एवं सड़क विकास प्रसंग को भी मुख्यमंत्री ने अपनी मांग में उठाया है। नवीन पटनायक ने इस अवसर पर चक्रवात फणि से निपटने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा दी गई मदद के लिए केन्द्र सरकार का धन्यवाद भी किया।
मुख्यमंत्री ने कहा है कि सन् 2012 के बाद से कोयला रयाल्टी व्यवस्था में संशोधन नहीं किया गया है। इसमें संशोधन करने की जरूरत है। इसके साथ ही कोयला उत्तोलन क्षेत्र में भी आर्थिक रयाल्टी की मांग मुख्मंत्री ने की है। इसके अलावा शहरांचल को केन्द्रीय अनुदान प्रदान में देरी, धान खरीद में सबसिडी न देने, रेलवे प्रोजेक्ट के विकास आदि क्षेत्र में भी मुख्यमंत्री ने गृहमंत्री का ध्यान आकर्षित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि रेलवे के विकास के लिए राज्य सरकार मुफ्त में जमीन दे रही है, 50 प्रतिशत राशि भी दे रही है फिर भी जिस गति से विकास होना चाहिए, नहीं हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल राज्यों के विकास के लिए विशेष आर्थिक पैकेज घोषणा करने की भी मांग की। बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, बिहार के मुख्यमंत्री नितिश कुमार, झारखंड के वित्तमंत्री प्रमुख उपस्थित थे।
पूर्वांचल जोन परिषद बैठक में भाग लेने के लिए आए अतिथि नवीन निवास में दोपहर का भोजन किया। गृहमंत्री अमित शाह के साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस भोज में शामिल थे। इसके लिए भुवनेश्वर में मौजूद एक फाइव स्टार होटल से व्‍यंजन मंगवाये गये। कुल 11 अतिथियों के लिए यह खाना मंगवाया गया। खाद्य मीनू में शाकाहारी एवं मांसाहारी दोनों प्रकार के व्यंजन शामिल हैं। प्लेन राइस, फ्राई राइस, चिकेन, मटन, चिंगुड़ी, के साथ शुद्ध ओडिया व्‍यंजन शामिल है। इसके साथ ही अतिथिओं को चावल खिरी, रसगुल्ला, हाका नूडल्स जैसे करीबन 50 प्रकार के व्यंजन परोसे जाने की सूचना मिली है। पूर्वांचल जोन परिषद बैठक खत्म होने के बाद अमित शाह एवं अन्य अतिथि नवीन निवास पहुंचे जहां पर पर शाह अन्य अतिथियों के साथ भोजन किया। एक ही टेबल पर सभी के भोजन करने को लेकर राजनीतिक चर्चा भी सरगर्म हो गई है।