ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्कृत समाचार तिथि / पंचाग कथा / कहानियां शास्त्रों से धार्मिक पर्यटन स्थल विचार / लेख
फेडरेशन एवं इथियोपियाई दूतावास ने भोपाल में संयुक्त रूप से बिजनेस फोरम का किया आयोजन
February 29, 2020 • Admin
इथियोपिया ने मप्र के निवेशकों के लिये खोले द्वार, जल्द ही फेडरेशन नेतृत्व में एक व्यापारिक दल जाएगा इथियोपिया 
भोपाल । इथियोपिया मध्यप्रदेश के उद्योगों का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए तैयार है। इथियोपिया एक ऐसा देश है, जिसकी एक समृद्ध संस्कृति, इतिहास और विविधता है। अब यह तेजी से आर्थिक विकास के लिए तैयार है और इथियोपिया में निवेश करने के इच्छुक उद्योगों को तरह-तरह की सहूलियतें, सहायता और प्रोत्साहन देता है। यह बात आज डॉ. टिजिटा मुलुगेटा ने भोपाल के प्रमुख उद्योगपतियों को फेडरेशन ऑफ मध्यप्रदेश चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज और इथियोपिया का दूतावास द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक बिजनेस फोरम में कही। उन्होंने कहा कि इथियोपिया में एक स्थिर और लोकतांत्रिक सरकार है, यहां बुनियादी ढांचे में सुधार हुआ है और यह दुनिया में तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इथियोपिया तेजी से दुनिया भर के व्यवसाइयों और निवेशकों के लिए एक पसंदीदा जगह बन रहा है। मौजूदा सरकार के शांति और सुधार कार्यक्रमों तथा निवेश के विभिन्न प्रोत्साहन और निर्यातोन्मुखी उद्योगों को नये अवसर मिल रहे है। मध्यप्रदेश के निवेशकों को इसका लाभ उठाना चाहिए हम उनका स्वागत करते है। राज्य के निवेशकों को आमंत्रित करते हुए उन्होंने आगे कहा आज इथियोपिया में 500 से अधिक भारतीय कंपनियां हैं, जिन्होंने 4 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक का निवेश किया है जिसमें से एक अनुमान के अनुसार 2 बिलियन डॉलर धरातल पर आ चुका है। भारतीय कंपनियों ने विभिन्न क्षेत्रों में निवेश किया है जैसे, कृषि और फूलों की खेती, इंजीनियरिंग, प्लास्टिक, विनिर्माण, कपास और वस्त्र, जल प्रबंधन, संचार और प्रौद्योगिकी, शिक्षा, फार्मास्यूटिकल्स और स्वास्थ्य सेवायें आदि। डॉ. मुलगेटा ने फेडरेशन के सदस्यों से उद्योगपतियों के एक व्यापार
प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया और कहा कि इथियोपिया सरकार निवेशकों को हर संभव समर्थन देगी। राज्य के प्रमुख उद्योगपतियों और फेडरेशन के
सदस्यों अनिल चावला,राजीव जैन, आकाश पेठिया,अंकुर गुप्ता,
मिहिर एस मर्चेंट, आयुष गोस्वामी, अजीत कुकरेजा सहित फेडरेशन के
सदस्यों ने राजनयिक के साथ इथियोपिया के साथ व्यापार-संबंधों को
बढ़ानें और निवेश संबंधी विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।