ALL राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय संस्कृत समाचार तिथि / पंचाग कथा / कहानियां शास्त्रों से धार्मिक पर्यटन स्थल विचार / लेख
विवाह का नाटक कर ठगने वाली दुल्हन व उसके साथी गिरफ्तार
February 29, 2020 • Admin

विवाह का नाटक कर ठगने वाली दुल्हन व उसके साथी गिरफ्" alt="" aria-hidden="true" />राजधानी क्राइम ब्रांच ने सतना जिले के शातिर ठगों को गिरफ्तार किया है इनके खिलाफ कोलार रॉड पर रहने वाले व्यक्ति ने   विवाह कर ठगी करने  की शिकायत की थी जिस पर अति पुलिस महानिदेशक/पुलिस महानिरीक्षक आदर्श कटियार एवं डीआईजी  इरशाद वली द्वारा धोखाधड़ी करने वाले अपराधियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही हेतु निर्देषित किया गया। उक्त तारतम्य में क्राइम ब्रांच द्वारा शादी का नाटक कर पैसे हड़पने वाले शंकर दुबे उर्फ रामफल शुक्ला एवं रानी मिश्रा उर्फ सुनीता शुक्ला निवासी जिला सतना को ठगे गये आभूषण के साथ गिरफ्तार किया गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोलार रोड में रहने वाले एक सीनियर सिटीजन द्वारा उनकी पत्नि की मृत्यु हो जाने एवं अकेलेपन के कारण देख-रेख हेतु एक वैवाहिक विज्ञापन अखबार में प्रकाषित करवाया। विज्ञापन के प्रकाषन के 1-2 दिन बाद फरियादी के पास शंकर दुबे नाम बताकर एक व्यक्ति ने फोन किया और कहा मैं पन्ना जिले के भीतरवार गांव से बोल रहा हूं। मैनें पेपर में आपका विज्ञापन देखा था, मेरे घर के पास ही एक गरीब महिला उम्र करीब 40 वर्ष रहती है, जो कि अविवाहित है। उसको बचपन में गाय ने पेट में सींग मार दिया था, इस कारण वह माँ नहीं बन सकती। इसलिए उसने शादी नहीं की थी। उनकी बातों में आकर फरियादी ने उस महिला से शादी के लिए सहमति दे दी। वो दोनों घर पर आ गये और फरियादी और रानी ने एक-दूसरे से घर पर ही विवाह कर लिया और फरियादी ने अपनी पूर्व पत्नी के सारे सोने के गहनें उनके कहने पर रानी को पहनने को दे दिये। एक दिन बाद शंकर ने रानी की माँ की तबियत बहुत खराब होने का बहाना करके रानी को लेकर उसके माँ के घर चला गया और जाते समय रानी दिये गये समस्त गहने और लगभग 7,500/- साथ में ले गये। उसके अगले दिन रानी की माँ की मृत्यु होने का बहाना करके अंतिम संस्कार और तेरहवीं के लिए 40,000/- की मांग की। उसके कुछ दिन बाद फरियादी के पास कोटा राजस्थान से फोन आया और उस व्यक्ति ने बताया कि मेरे को शंकर दुबे के मोबाइल की सीडीआर जो कि पुलिस द्वारा निकाली गयी है, जिससे आपका नंबर मिला है। उसने बताया कि मेरी भी रानी मिश्रा से शादी हो चुकी है और उसने व्हाट्सएप पर रानी के साथ अपना फोटो भेजा, जिसे फरियादी द्वारा देखकर पहचान गया, कि यह तो वही रानी है, जिसने उसके साथ शादी की है। तब फरियादी को शक होने पर पुलिस में षिकायत की। इस प्रकार शंकर दुबे उर्फ रामफल शुक्ला एवं रानी मिश्रा उर्फ सुनीता शुक्ला निवासी जिला सतना द्वारा भोपाल निवासी सीनियर सिटीजन के अलावा कोटा राजस्थान, जबलपुर में रहने वाले अन्य व्यक्तियों के साथ भी शादी का नाटक करके ठगी की गयी है। इस संबंध में आरोपीगण के खिलाफ अप0क्र0 51/20, धारा 420 भादवि का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।